ठंड में बच्चों को जुकाम-खांसी और बुखार से बचाने वाले 10 magic foods maonduty के इस लेख में हम बच्चों को सर्दी-खांसी और सर्दी में बीमार पड़ने से बचाने के लिए सभी तरह के winter food for kids की जानकारी देंगे. साथ ही इनके फायदे और बनाने की सभी टेस्टी रेसिपीज भी शेयर करेंगे, जिससे आप बच्चों को बड़े आराम से सारी चीज़ें बनाके खिला पाएंगे. बच्चे नाक-भौं भी नहीं सिकोड़गे और आपसे माँग-माँगकर सब कुछ बड़े चाव से खा जाएँगे। Winter KId’s Health: सर्दियों में बच्चों की हेल्दी डाइट में 10 magic winter food for kids शामिल करे. बच्चों के लिए टेस्टी रेसिपी बनाकर, इम्यूनिटी मज़बूत करे. शारीरिक और मानसिक विकास में भी मिलेगी मदद.

ठंड में बच्चों को सर्दी-जुकाम

Image by Freepik

Winter Children Diet: ठंड में बच्चों को सर्दी-जुकाम और बुख़ार होने का ख़तरा बढ़ जाता है. आपको तो पता ही है ठंड का मौसम यानी बच्चों का एग्ज़ाम टाइम. सर्दियों के मौसम में ही बच्चों के प्रीबोर्ड,बोर्डस और हर क्लास के फ़ाइनल एग्ज़ाम होते हैं. बच्चों को सर्दी-जुकाम से बचाने के घरेलू उपाय अपनाने चाहिए. जिससे वे बीमार न पड़े और उनकी पढ़ाई में विघ्न न डले.

बच्चों की डाइट ऐसी होनी चाहिए, जिससे बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास (Physical and Mental Growth) को बूस्ट कर सके. 

सर्दियों में बढ़ते बच्चों को बार-बार जुकाम-खांसी होने के कारण प्रतिरोधक क्षमता(immunity) कमजोर होने लगती है. जिससे बच्चों की ग्रोथ पर बहुत बुरा असर आने लगता है. ऐसे में बच्चों की डाइट में 10 Magic Winter Foods for kids ज़रूर इंकल्यूड करना चाहिए.

हम बच्चों के लिए बढ़िया-बढ़िया रेसिपी बताने वाले हैं, आख़िर तक बने रहिए. 

Table of Contents

ठंड में बच्चों को जुकाम-खांसी और बुखार से बचाने वाले 10 magic foods

इन 10 मैजिकल चीजों में हम शामिल करेंगे. 

१. ड्राई-फ़्रूट्स 

सूखे मेवे, जिन्हें हम सभी ड्राई फ्रूट्स के नाम से जानते हैं, बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास में बहुत योगदान देते हैं।

A) बादाम 

Badam

पौस्टिक तत्वों से भरपूर बादाम सेहत के लिए बहुत फ़ायदेमंद माना जाता है. 

बादाम खाने के फ़ायदे
  •  सर्दी-खांसी में फ़ायदेमंद: बादाम में प्रोटीन,विटामिन,फ़ाइबर और एंटी-ऑक्सिडेंट्स भरपूर मात्रा में होते हैं. baccho ko sardi ki dawa के रूप में बादाम ज़रूर खिलाने चाहिए.
  • बादाम में कैल्शियम और फ़ॉस्फोरस पाएं जाते है, जो बढ़ते बच्चों की हड्डियों को मज़बूत करते हैं.

बादाम में होता है ओमेगा-3 फ़ैटी एसिड, मैग्निशियम, आयरन और जिंक. जिससे बच्चों का दिमाग़ तेज (Brain Development) होता है. बादाम खाने से बच्चों का आइक्यू लेवल भी बढ़ता है.


B) काजू

काजू है एनर्जी का पावर हाउस. बढ़ती उम्र के बच्चों और पढ़ने वाले बच्चों को काजू ज़रूर खाने चाहिए.

काजू खाने के फ़ायदे
  • काजू में फ़ाइबर भरपूर क्वांटिटी में होता है. इसलिए बच्चों की पाचन-शक्ति को मज़बूत करता है.
  • baccho ko sardi ke upay के तौर पर कैसे काम आते हैं, काजू? काजू में एंटी-ऑक्सिडेंट गुण होते हैं, जो सम्पूर्ण शरीर को स्वस्थ रखने में काम आते है.
  • स्वस्थ दिमाग़: काजू में मैग्निशियम की अच्छी मात्रा होती है, जो दिमाग़ को स्वस्थ रखने के लिए लाभदायक है.
  • स्वस्थ मसूड़े और दांत: काजू में पाए जाने वाला कैल्शियम बच्चों के दाँतो के विकास और मज़बूती को बनाए रखता है. 

हम आपको बच्चों के लिए बहुत बढ़िया रेसिपी बताने वाले है आख़िर तक हमारे साथ चलिए।


C) किशमिश

किशमिश पाचन-शक्ति से लेकर शरीर में ऊर्जा बनाए रखने में काम आती है. 

किशमिश खाने के फ़ायदे
  • किशमिश में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं. जब शरीर में किसी प्रकार का संक्रमण सर्दी, जुकाम,खांसी और बुख़ार का कारण बनता है, तो किशमिश उन बैक्टिरिया को ख़त्म करने का और जुखाम का रामबाण इलाज है.
  • ऊर्जा का भंडार: किशमिश कार्बोहाईड्रेट का स्रोत है. एन सी बी ​आइ के शोध के अनुसार किशमिश ऊर्जा बढ़ाने के लिए Winter Foods For Kids में शामिल करने चाहिए.
  • मुँह और दांतों का रक्षक: संयुक्त राज्य अमेरिका के डिपार्टमेंट आफ फ़ूड एंड न्यूट्रीशन द्वारा बताया गया कि किशमिश में फ़ाईटोकेमिकल्स, एंटी आक्सीडेंट और ऑलिनोलिक एसिड मौजूद है. जो दाँतो में बैक्टिरिया के विकास को रोकते हैं और केवीटी होने से बचाता है.

२. बीज

बीज बच्चों का  स्वास्थ्य अच्छा करने में  बहुत मदद करते हैं. 

A) कद्दू के बीज (Pumpkin Seeds)

साईंटिस्ट और मेडिसन एक्सपर्ट दीपक आचार्य ने बताया कि स्मरण शक्ति और याददाश्त तेज करने के लिए ग़ज़ब का काम करते हैं, कद्दू के बीज. 

कद्दू के बीज खाने के फ़ायदे
  •  स्वस्थ रखे: कद्दू के बीज में विटामिन-ई और कैरोटीनॉयड जैसे एंटी-आक्सिडेंट होते हैं, जो बच्चों के शरीर को बीमारियों से बचाते हैं.
  • बेहतर नींद: कद्दु के बीज में सेरटोनिन होता है जो एक नेचुरल नींद को प्रेरित करने वाला माना जाता है. बच्चे सकून की नींद सो पाते हैं.
  • बालों की ग्रोथ: कद्दू के बीज में क्यूक्रबिपसीन होता है जो बालों की ग्रोथ बढ़ाता है.

हम आपको बच्चों के लिए बहुत बढ़िया रेसिपी बताने वाले है आख़िर तक हमारे साथ चलिए


B) अलसी के बीज(Flex seeds)

 

अलसी औषधीय गुणो का ख़ज़ाना है. 

अलसी खाने के फ़ायदे
  • प्रोटीन का भंडार: बढ़ते बच्चों के लिए अलसी के बीज प्रोटीन का बहुत बड़ा स्रोत है और उनकी शारीरिक और मानसिक विकास में बहुत काम आता है.
  • ब्रेन बूस्टर: अलसी के बीजों में ओमेगा-3 फ़ैटी एसिड और ओमेगा-6 फ़ैटी एसिड की मात्रा ज़्यादा होती है. जो कि ब्रेन बूस्ट करने में तेज़ी से काम करता है. अलसी बच्चों के दिमाग़ को तेज करता है.
  • एनर्जी बूस्टर: इसको खाने से बच्चों को थकान महसूस नहीं होती और बच्चों की एनर्जी बूस्ट करने में मदद करती है. 

C) खसखस( Poppy Seeds)

आयुर्वेद में खसखस का विशेष वर्णन है. 

खसखस खाने के फ़ायदे
  • बुख़ार: खसखस के एंटी बैक्टीरियल गुण फ़ीवर को कम करने या राहत दिलाने में मदद करते हैं.
  • दिमाग़ी क्षमता: खसखस में कैल्शियम,आइरन व ​कौपर होते हैं, जो दिमाग़ी क्षमता को बढ़ाते हैं. खसखस बच्चों का दिमाग़ तेज करने के लिए खिलाया जाता है और याददाश्त बढ़ाने के भी काम आता है.

हम आपको बच्चों के लिए बहुत बढ़िया रेसिपी बताने वाले है आख़िर तक हमारे साथ चलिए।

३. मसाले (spices) 

मसालो का हमारे खाने में एक विशेष स्थान है. मसाले खाने को स्वादिष्ट बनाने के साथ-साथ हमारे स्वास्थ्य को भी अच्छा रखते हैं.

A) दक्षिणी मिर्च

आयुर्वेद में इसे जड़ी-बूटी माना गया है। इसमें फ्लेवोनॉयड्स, विटामिन, आयरन और कई अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं।

दक्षिणी मिर्च खाने के फ़ायदे
  • दक्षिणी मिर्च के अंदर एंटी-बायोटिक गुण होते हैं. दक्षिणी मिर्च अगर शहद के साथ खाई जाए तो कफ की समस्या या ठंड में बच्चों को सर्दी,जुकाम,खांसी और गले की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा.
  • आँखो की रोशनी: आयुर्वेद में दक्षिणी मिर्च को अमृत माना गया है. इससे बच्चों की आँखो की रोशनी तेज होती हैं. 

B) सौंठ

सुखी अदरक को सौंठ कहते हैं. सोंठ का प्रयोग सर्दियों में बहुत किया जाता है। यह मैग्नीशियम, फाइबर, सोडियम, आयरन, विटामिन ए और सी आदि का बहुत अच्छा स्रोत माना जाता है। यह हमारी सेहत को कई तरह के फायदे देता है।

सौंठ खाने के फ़ायदे
  •  सौंठ में एंटी-फलेमेंट्री तत्व मिलते हैं. सौंठ से बच्चों की इम्यूनिटी मज़बूत होती है. मौसमी बीमारियों से भी बचाती है, जैसे: सर्दी -जुकाम और खांसी.  

दोस्तों,अब बारी आती है कि baccho ko kya khilana chahiye जो ये सारे dry fruits हम बच्चों को आराम से खिला पाएं. बच्चे बड़े नख़रीले होते हैं, हम मम्मियाँ भी हार मानने वाली नहीं हैं. 

बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए नए-नए तरीक़े खोज ही लाती हैं. तो चलिए,हम आपको सिखाते है बनाना:

winter food for kids बच्चों के लिए टेस्टी रेसिपीज 

1. ड्राई-फ़्रूट के शानदार लड्डू 

सामग्री:

 -1 छोटी कटोरी बादाम 

-1/2 छोटी कटोरी काजू 

-1/4 छोटी कटोरी कद्दू के बीज

-1 बड़ी कटोरी चीनी

-1 बड़ा चम्मच देशी घी

-1 चम्मच अलसी के बीज

-1 चम्मच खसखस

-10-15 किशमिश

-1 चम्मच दक्षिणी मिर्च

-1 चम्मच सौंठ

Dry Fruit Laddu बनाने की विधि 

हमने आपके लिए स्टेप-वाइस विडीओ बनायी है. देखे और बहुत ही आसानी से बनाएं एनर्जी देने वाले, दिमाग़ तेज करने वाले और जुकाम-खांसी से बचाने वाले लड्डू. 

मैं लड्डू बनाने के लिए जो चीजें इस्तेमाल करती हूँ आपसे उनके लिंक शेयर कर रही हूँ, मैं बच्चों के लिए बेस्ट क्वालिटी की चीजें ही प्रयोग करती हूँ फटाफट मंगाएं और बनाएं अपने बच्चों के लिए लाजवाब लड्डू.


हम आपको बच्चों के लिए बहुत बढ़िया रेसिपी बताने वाले है आख़िर तक हमारे साथ चलिए

2. मखाने

कमल के बीज को मखाना कहते हैं. मखाने में कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है जिसके कारण यह हड्डियों और दांतों के लिए भी बहुत अच्छा होता है।

मखाने खाने के फ़ायदे

  • मखाने होते हैं कैल्शियम से भरपूर. बढ़ते बच्चों की हड्डियाँ मज़बूत करते हैं.
  • एंटी-आक्सिडेंट्स और एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते है इनमे. बच्चों को सर्दी-जुकाम से बचाता है इनका रोज़ सेवन.

बच्चों को मखाने खिलाने के लिए हम बनाएँगे उनके लिए 

मखाने और बादाम का हलवा  

सामग्री:

-1 बड़ी कटोरी गुड़

-1/2 कटोरी बादाम

-1 बड़ी कटोरी आटा

-1 छोटी कटोरी देसी घी 

-3 बड़ी कटोरी मखाने

-15 काटे हुए बादाम 

-1 बड़ा चम्मच सत्तू का आटा

-1 चम्मच सौंठ

मखाने और बादाम का हलवा बनाने की विधि

हमने आपके लिए पूरी विडीओ बनायी है. ठंड में बच्चों को सर्दी-जुकाम और बीमार होने से बचाना है तो baccho ko sardi ki dawa बनाकर दे. मखाने और बादाम का हज़ारों फ़ायदे वाला हलवा. जल्दी से बनाएं खुद  खाएं और बच्चों को खिलाएं.

मैं कौन से मखाने और सत्तू का आटा  यूज़ करती हूँ? उसका लिंक आपसे शेयर कर रही हूँ. फटाफट मंगाएं और बनाएं. 


3. आंवला

सर्दियों के मौसम में आंवला खाना काफी फायदेमंद माना जाता है। विटामिन सी से भरपूर होने के साथ ही इसमें कई शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। इसलिए इसे विंटर सुपरफूड भी कहा जाता है।

आंवला खाने के फ़ायदे

  • इसे खाने से बच्चों की इम्यूनिटी बढ़ती है. बैक्टिरिया से लड़ने की ताक़त देता है. इसका रोज़ सेवन जुख़ाम का रामबाण इलाज है. विटामिन जुकाम होने से बचाता है.
  • आँवला बालों को चमकदार,लम्बा और घना बनाता है. नियमित सेवन से स्किन ग्लोइंग बनती है. 

बच्चों को आँवला खिलाना बहुत मुश्किल काम है, लेकिन हम मम्मियाँ तरकीब निकाल ही लेती हैं. आपने देखा होगा, आजकल बच्चे तरह-तरह की सॉस खाते है तो हम भी बनाने वाले हैं:

आँवला लौंजी सॉस (बच्चों को नाम पसंद आएगा)

सामग्री :

-15 आमला

-1/2 बड़ी कटोरी गुड़

-1/2 कटोरी मिश्री

-1 चम्मच कलौंजी

-1 चम्मच काला नमक

-1 चम्मच अज्वाइन

-1 चम्मच सौंफ

-1 चम्मच काली मिर्च

-1 चम्मच भुना जीरा

-1 चम्मच लाल मिर्च

आँवला लौंज सॉस बनाने की विधि

दोस्तों, ठंड या सर्दी में बच्चों को खिलाना चाहिए रोज़ आँवला, नही पड़ेंगे बीमार. नीचे हमने विडीओ दिया है आपके लिए. जल्दी से देखे और बनाएं. अपने लाड़लों को पराँठे के साथ,ब्रेड के साथ और पूरी के साथ दे. हमारी आमला लौंजी सॉस.  

मैं जो मसाले यूज़ करती हूँ. आपसे लिंक शेयर कर रही हूँ. बस देर किस बात की, जल्दी से मंगाइए और बनाइए.


4. हरी मेथी

मेथी फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर मानी जाती है, जो कब्ज या पाचन संबंधी समस्याओं से राहत दिलाने में मदद कर सकती है। सभी डॉक्टर सर्दियों के मौसम में हरी पत्तीदार सब्ज़ियाँ खाने की सलाह देते है. 

हरी मेथी खाने के फ़ायदे

  • एक तो मेथी की तासीर गर्म होती है. सर्दियों के मौसम में शरीर को  गर्म रखने में बहुत मदद मिलती है, मेथी से.
  • इसमें में फाइबर की मात्रा बहुत अधिक होती है, जिससे बच्चों को कब्ज में मेथी बहुत फायदेमंद होती है।
  • मेथी में एंटी-ऑक्सीडेंट और विटामिन होते हैं, जो बच्चों की त्वचा और बालों के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।

दोस्तों, बच्चों को हरी मेथी खिलाने के लिए, हम बनाएँगे कुरकुरे और ख़स्ता मेथी के पराँठे. बच्चे बड़े आराम से खाएँगे. 

मेथी पिज़्ज़ा पराठाँ बनाने की विधि

चलिए, दिखाते है आपको मेथी के ख़स्ता पराँठे बनाने का तरीक़ा. बच्चे आपसे रोज़ बनाने की ज़िद करेंगे और अपनी ममी को देंगे Best chef का ख़िताब. सोच क्या रहे है? जल्दी से विडीओ देखिए और बनाइए. 

हम आपको बच्चों के लिए बहुत बढ़िया रेसिपी बताने वाले है आख़िर तक हमारे साथ चलिए


5. पालक

Popeye the seller आपने देखा ही होगा, कैसे पालक खाकर शक्तिशाली हो जाता था और बच्चे उसे पसंद भी बहुत करते है.

पालक खाने के फ़ायदे

  • पालक में विटामिन ई की मात्रा भरपूर होती  है. ये रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक होता है. सर्दियों में बच्चों को सर्दी -जुकाम और बुख़ार होने से बचाने के लिए पालक ज़रूर खिलाएं.
  • पालक में आयरन की मात्रा बहुत ज़्यादा होती है. जिन बच्चों को एनिमिया होता है, उन्हें पालक ज़रूर खिलाना चाहिए.
  • दिमाग़ी विकास के लिए भी बहुत फ़ायदेमंद है पालक. मस्तिष्क स्वस्थ रखने के लिए उपयोगी विटामिन के, बीटाकैरोटिन जैसे नयूट्रीएंट्स पाए जाते है पालक में.

बच्चों को पालक खिलाने के लिए हम लाएं है, करारी-करारी पालक पूरी. बड़े मज़े से खाएँगे बच्चे. पालक पूरी मेरे बेटे को बहुत पसंद है। बचपन से खा रहा है पालक पूरी और आँवले की लौंज़ी सॉस. 

पालक की पूरी:

सामग्री:

-250 gm ताजी पालक

-1/2 इंच अदरक

पूरी के आटे के लिए:

-2 1/2 कटोरी गेंहू का आटा

-1/4 कटोरी बेसन

-1/4 चम्मच जीरा

-1 चुटकी हींग

-1/2 चम्मच भुना जीरा

-1/2 चम्मच गर्म मसाला

-1/2 चम्मच नमक

-पूरी तलने के लिए देसी घी

पालक पूरी बनाने की विधि (Palak Puri Recipe)

पालक का पेस्ट बनाएं:

1) पालक के पत्तों में से डंठल तोड़ लेंगे. 

2) अच्छे से धोकर साफ़ करे. 

3) इसके बाद मिक्सी में पालक के पत्ते, अदरक को बिना पानी डाले, अच्छी तरह से पीस लेंगे. 

4) winter me baccho ko kya khilaye नहीं सोचेंगे. अब आप पालक पूरी जो बनानी है. बड़े बाउल में गेंहू का आटा, बेसन, जीरा, हींग, जीरा पाउडर, गर्म मसाला,नमक और थोड़ा-सा देशी घी डालकर अच्छे से मिक्स कर ले.

5)अब पालक के पेस्ट को डालकर थोड़ा -थोड़ा गूँथ ले, बिना पानी डाले.

 6)पूरी के लिए थोड़ा सख़्त आटा गुँथना है। आटे को  मलमल के गीले कपड़े से ढककर रखे. 10 मिनिट बाद आटे को फिर से गूँध ले. थोड़ी चिकनाई ऊपर से लगा दे. 

7) अब आटे की छोटी-छोटी लोईयाँ बना ले. 

8) एक कढ़ाई में देसी घी डालकर गैस पर गर्म होने रख दे. हाई फ़्लेम पर जब उसमें धुँआ उठने लगे, तो ​फ़्लेम को काम कर ले. 

9) अब लोई पर ज़रा सा घी लगाकर चकले पर बेलन की मदद से बेल ले. इसी तरह से सारी पूरियाँ बेल ले. 

10) अब कढ़ाई में ज़रा सी आटे की गोली डालकर चेक करे. अगर गोली तुरंत ऊप्पर आ जाती है, तो घी तैयार है. 

11) अब गर्म घी में पूरी तलने के लिए डाल दो.

12) पूरी को पलटे और हलके हाथ से पौनी से पूरी को दवाएं. पूरी  फूल के कुप्पा हो जाएँगी. फिर से पलट ले दोनो साइट से. करारी होने दे और घी से निकाल ले. 

13) सारी पूरियाँ इसी तरह से तल ले. 

      हो गयीं हमारी करारी पालक पूरी तैयार. बच्चों को दे, बथुए के रायते से या आँवले की लौंज से. 

palak puri


6. शकरकंद 

शकरकंद फाइबर से भरपूर होता है और यह फाइबर मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाने में मदद करता है. सर्दियों में बच्चों को खाने में दे शकरकंद, नहीं पड़ेंगे बीमार. 

शकरकंद के फ़ायदे

  • शकरकंद में विटामिन ए, सी, बी और डी बहुत अच्छी मात्रा में होता है और बच्चों की इम्यूनिटी को मज़बूत करता है. बच्चों को जुकाम-खांसी के संक्रमण से बचाता है.
  • शकरकंद में पाए जाने वाला, बीटा-कैरोटिन आँखो के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है.

बच्चों को शकरकंद खिलाने के लिए हम बता रहे है, शकरकंद की टिक्की की रेसिपी. शकरकंद की टिक्की बनाने की विधि:

सामग्री: 

-1 1/2 बड़ी कटोरी उबले और मैश किए हुए शकरकन्द

-1/4 कटोरी कटा हुआ धनिया

-1 चम्मच लाल मिर्च पाउडर

-1 चम्मच नींबू का रस

-1/2 चम्मच हल्दी पाउडर

-1 चम्मच चाट मसाला

-1 1/2चम्मच कॉर्नफ़्लॉवर

-1 बड़ा चम्मच चावल का आटा

-स्वादानुसार नमक

-तेल तलने के लिए

-1/2 चम्मच ऊपर छिड़कने के लिए चाट मसाला

शकरकंद की टिक्की बनाने की विधि

1) सारी सामग्री एक बाउल में डाल ले. अच्छी तरह से मिक्स कर ले. 

2) अब उसको 15 भागो में डिवाइड कर ले और टिक्की की शेप दे. 

3) एक नॉन-स्टिक पैन में तेल डालकर गर्म करे और लो फ़्लेम पर दोनो तरफ़ से अच्छी तरह सेंक ले. 

4) टिशू पेपर पर उतार ले और चाट मसाला छिड़के.

5) चटनी या आँवले की लोंज के साथ गर्म-गर्म परोसें.

Shakarkandi Tikki Recipe


7. गाजर

गाजर स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है. 

गाजर खाने के फ़ायदे

  • गाजर में बीटा-कैरोटिन होता है, जो बच्चों की इम्म्यूनिटी को मज़बूत करती है और उन्हें जुकाम-खांसी के संक्रमण से बचाती है.
  • गाजर में विटामिन ए होता है और इसे खाने से आँखो की रोशनी बढ़ती है. 

बच्चों को गाजर खिलाने के बहुत सारे तरीक़े है. गाजर का सलाद,जूस और गाजर का हलवा. 

गाजर का हलवा कैसे बनाएं?

1) 5 बड़ी कटोरी कद्दूकस करी हुई गाजर एक भारी कढ़ाही में डाले. 

2) 4 ग्लास फ़ुल फ़ैट दूध डाले लो फ़्लेम पर रखे. बीच-बीच में चलाते रहे.

3) कुछ देर बाद दूध में झाग आने लगेंगे और फिर अपने आप झाग बैठने लगेंगे. आप चमचे से चलाते रहिए. 

4) जब तक दूध ख़त्म न हो जाए, तब तक चलाते रहे. 

5) 4 बड़े चम्मच देशी घी डाले, अच्छी तरह मिलाएं.

6) इसके बाद 12 बड़े चम्मच चीनी डाले. 

7) 1 चम्मच इलायची पाउडर डाले, अच्छी तरह मिक्स करे. 

8) इसे गाढ़ा होने तक चलाते रहे. 

9) अब हलवे में 12 काजू,12 बादाम और 1 चम्मच किशमिश डाले.

GAJAR KA HALVA


8. अंडा

अंडा प्रोटीन का बहुत बड़ा सोर्स है. 

अंडा खाने के फ़ायदे

  • सर्दियों में बच्चों को जुकाम-खांसी और बुख़ार होने से बचाने के लिए, रोज़ाना सुबह एक अंडा किसी न किसी रूप में जरुए खिलाएं. अंडे में एंटी-आक्सिडेंट, विटामिन और प्रोटीन भरपूर होता है. इम्म्यूनिटी मज़बूत करने के लिए बहुत अच्छा सोर्स है.
  • अंडे से मिलने वाले प्रोटीन से शरीर में मसल्ज़ बिल्ड होती हैं.
  • आयरन का बहुत अच्छा सोर्स है, इसे ब्रेकफास्ट में ज़रूर शामिल करे. 

आप बच्चे को अंडे का आमलेट, भुर्जी, फ़्रेंच टोस्ट, अंडा करी, पोचड एग और उबला अंडा. किसी भी रूप में अंडा रोज़ ज़रूर खिलाएं.

Omelet ka pic 

Conclusion – निष्कर्ष 

हमने अपने इस आर्टिकल में ठंड में बच्चों को जुकाम-खांसी और बुख़ार से बचाना है, तो खिलाए 10 magic winter food for kids के बारे में डिटेल में बताया है. baccho ko sardi ki dawa के रूप में baccho ko kya khilana chahiye जिससे बच्चों की इम्म्यूनिटी बढ़े. 

हमने बताया है कि ये सारी चीज़ें खिलाने के क्या फ़ायदे है और बच्चों को किस तरह ये चीज़ें खिलाई ज़ाएं. सब चीज़ों को बनाने की रेसिपी हमने डिटेल में बतायी है. 

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल – FAQ 

बच्चों को जुकाम में शहद-अदरक दे,गुनगुना पानी पिलाएं और चेस्ट पर हल्का गर्म सरसों का तेल लगाएं.
बच्चे को दिन में तीन बार 10 मिनिट के लिए भाप दे. तुलसी,अदरक और शहद मिलाकर खिलाएं. कफ निकलने में मदद मिलेगी.


Vibha Sharma

Hi, मैं Vibha Sharma हूँ. मैं एक Child Development Expert और Mom Influencer हूँ. मैं Maonduty की Founder हूँ. मैं तीन बच्चों की माँ हूँ. मेरी बड़ी बेटी Mechanical Engineer है, छोटी बेटी Lawyer है और बेटा Reputed College से Law कर रहा है. मेरे बच्चे हमेशा Scholar रहे. उन्होंने बहुत सारे इनाम जीते Debates, Essay writing, sports, arts, story telling, fancy dress and Theatre etc मैं यहाँ आपको Parenting के पर्सनल अनुभव share कर रही हूँ. मेरा mission 100000000+Parents की parenting journey को Happy and Easy बनाना है 🙏😊❤️ आप मुझे Instagram पर भी follow कर सकते है. मैं वहाँ Calm Parenting tips देती हूँ.😊💐

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बच्चों को Mentally strong बनाने के लिए इनमें से 1 चीज़ ज़रूर सिखाएं हनुमान जी के नाम पर बच्चों के मॉडर्न, अद्भुत और साहसी नाम सेहत के लिए बेशकीमती है बादाम जानिए बादाम खाने के अनगिनत फ़ायदे