Good Touch Bad Touch जैसे ही आपके बच्चे आपकी नज़रों से हटते हैं, क्या आप परेशान हो जाते हैं? आप को समझ नहीं आता कि आप बच्चे के साथ किसको छोड़े और किसको नहीं? बच्चों की सेफ़्टी को लेकर आप बहुत परेशान रहते हो. Maonduty के इस लेख में हम आपको बताएँगे कि आप बच्चों को यौन शोषण से कैसे बचा सकते हैं?

आप अपने बच्चों को छोटी उम्र से ही Good Touch and Bad Touch के बारे में बताकर एम्पॉवर करे, जिससे बच्चे अपने साथ हो रहे बुरे स्पर्श  के ख़िलाफ़ आवाज़ उठा सके. जब बच्चे गुड टच और बैड टच के बारे में जान जाएँगे तो वे अपनी सेफ़्टी का खुद ध्यान रख पाएँगे.

आजकल दोनो वर्किंग पेरेंट्स होने के करण, बच्चों को लम्बे समय तक किसी और के पास रहना पड़ता है. न्यूक्लीयर फ़ैमिली में बच्चे,मैड, ड्राइवर, दोस्त या रिश्तेदारों के सहारे पलते हैं. छोटी उम्र के बच्चे कमजोर और नासमझ होते हैं, इसलिए बच्चों के प्रति अपराध बढ़ते जा रहे है. बच्चे कहीं न कहीं यौन शोषण के शिकार हो रहे हैं. बच्चों की सुरक्षा के लिए बच्चों को good touch bad touch for kids के बारे में जागरूक करना बहुत ज़रूरी है. 

पेरेंट्स बच्चों को good touch and bad touch education देना तो चाहते हैं, लेकिन वे इस बारे में बात करते हुए बहुत झिझकते हैं. 

इस समस्या का हम बहुत ही आसान हल लेकर आए हैं. हम इस लेख के अंत में ऐसी बच्चों की कहानी की किताब के बारे में बताएँगे, जिससे आप अपने 5 साल के बच्चे को भी Good touch bad touch के बारे में बहुत ही आसानी से समझा पाएँगे. ये बुक चाइल्ड सेफ़्टी एजुकेटर, श्रीमती अपूर्वा कौशिक शर्मा ने लिखी है. वे Oxford University से school counselling में certificate holder हैं. 

आपके बच्चे की सुरक्षा के लिए, ये लेख good touch bad touch in Hindi बहुत ज़रूरी है. इसका एक-एक शब्द आपके बच्चे के लिए क़ीमती है. इसलिए अंत तक हमारे साथ बने रहिए.

Table of Contents

बच्चों को good touch and bad touch for kids के प्रति जागरूक होने की सही उम्र

नैशनल सेंटर फ़ॉर बायोटेक्नॉलजी के अनुसार बच्चों को 4-5 साल की उम्र में गुड टच और बैड टच ​(good​ touch bad touch in Hindi) के बारे में बताना शुरू कर देना चाहिए. 

Good Touch Bad Touch Poster

Good Touch Bad Touch


तो चलिए, शुरू करते है, बच्चों को जागरूक कैसे किया जाए?

गुड टच क्या है  What is Good Touch

अगर कोई आपको टच करता है और आपको अच्छा फ़ील होता है या आप स्नेह महसूस करते हैं तो यह गुड टच (good touch) कहलाता है. जैसे आप अपनी माँ के गले लगते है, पिता का गुडनाइट किस, दादा-दादी, नाना-नानी का अपनी बाहों में लेना या दोस्तों का हाथ पकड़ना गुड टच है. 

बैड टच क्या होता है What is Bad touch

जब कोई आपको इस तरह से छूता है कि आप असहज हो जाते हैं या फिर उस व्यक्ति का छूने का तरीक़ा आपको बुरा लगता है, यह बैड टच कहलाता है. 

इसके अलावा कोई व्यक्ति आपके प्राइवेट पार्ट्स को छूता है तो यह भी बैड टच है. अगर आप किसी व्यक्ति के छूने से असहज हो जाते हैं और वह व्यक्ति आपको इसके बारे में किसी को भी बताने के लिए आपको मना करता है, तो यह भी बैड टच है. 

बच्चों को गुड टच और बैड टच में अंतर सिखाना क्यों ज़रूरी है? 

आजकल बच्चों के साथ यौन शोषण की घटनाएँ बढ़ती जा रही हैं. रीसर्च के अनुसार, 90% बच्चों का यौन शोषण परिचित लोगों द्वारा किया जाता है और केवल 10 % बच्चे ही अजनबी लोगों का यौन शिकार बनते हैं. 

इसलिए पेरेंट्स की ज़िम्मेदारी है कि बच्चों को ऐसे बुरे व्यक्तियों से बचाने के लिए अच्छे और बुरे स्पर्श में अंतर सिखाएँ. चलिए जानते हैं,

बच्चों को Good Touch Bad Touch के बारे में कैसे सतर्क करे ?

1) बच्चों के साथ बॉंडिंग बढ़ाएँ

 चाहे आप वर्किंग पेरेंट है या होम-मेकर, बच्चे के साथ रोज़ वक्त बिताएँ. उनके साथ खूब बात करे. बच्चों के रूटीन, उनके दोस्तों व दिन में किस-किस से मिलते हैं, जानकारी ले.

बच्चों को विश्वास दिलाएं कि अगर उनसे कोई गलती भी हो जाती है, तो भी वे आपको कुछ भी बता सकते हैं और आप बच्चों को डाटेंगे नहीं. तभी आप बच्चों को Good Touch और Bad Touch के बारे में बता पाएँगे. 

2) बच्चों को प्राइवेट पार्ट्स के बारे में जानकारी दें

इसके लिए स्विमसूट नियम की मदद ले. बच्चों को गुड टच और बैड टच के बारे में समझाएं कि बॉडी के जो पार्टस स्विम सूट से ढके  रहते हैं, वे बच्चों के प्राइवेट पार्ट्स हैं. इन पार्ट्स को किसी को भी छूने की अनुमति नहीं देनी चाहिए. इस तरह से बच्चे अपनी सेफ़्टी कर पाएँगे और अगर उन्हें कोई बैड टच का शिकार बनाता है तो वे रीऐक्ट कर पाएँगे. 

3) Bad Touch को उदाहरण के साथ बताएं 

बच्चों को बहुत प्यार से समझाएं कि उन्हें किस तरह के टच के बारे में सख़्त मना करना है, जैसे कोई ज़बरदस्ती उन्हें kiss करने की कोशिश करे, ज़बर्दस्ती गले लगाएं, गालो को टच करे, कंधे पर हाथ लगाने के बहाने प्राइवेट पार्ट्स को छुए. चाकलेट देने के बहाने बैड टच करने की कोशिश करे, गोद में बैठाकर प्राइवेट पार्ट्स को छुए या किसी भी प्रकार का Bad Touch जो बच्चे को असहज करे, उसका विरोध करें. 

4) बैड टच का विरोध कैसे करे

अगर कोई भी व्यक्ति बच्चे के साथ बैड टच Bad Touch करने की कोशिश करे तो बच्चे को तुरंत चिल्लाना है. अगर वह स्कूल में है, तो तुरंत टीचर को शिकायत करे. 

5) बच्चे को न कहना सिखाएं

बच्चे बहुत ही कोमल होते हैं. अगर बच्चों को कोई चाकलेट या टाफी का लालच देता है तो बच्चे उनके बहकावे में आ जाते हैं. बच्चों को न कहना सिखाएं. अगर पेरेंट्स आस-पास नहीं है, तो किसी से भी कोई चीज़ न ले. 

6) बच्चों के व्यवहार पर ध्यान दें 

बच्चों के व्यवहार पर बहुत ध्यान दें. वह घर पर बहुत चुप तो नहीं रहने लगा, खाना खाना तो कम नहीं कर दिया, हमेशा खोया-खोया तो नहीं रहने लगा. कई बार बच्चे good touch and bad touch in hindi  के बारे में ​जागरूक नहीं होते और बैड टच की घटना घट जाती है. बच्चे अंदर ही अंदर परेशान रहते हैं और बुरे स्पर्श के बारे में किसी को नहीं  बता पाते.

7) बेटा-बेटी दोनो को सिखाएं 

कई बार हमें लगता है कि गुड टच बैड टच सिर्फ़ बेटियों को ही बताना चाहिए. लेकिन आजकल के समाज में लड़के भी बैड टच (​Bad​ Touch) के शिकार है. इसलिए बेटा-बेटी दोनो को ही Good Touch और Bad Touch की जानकारी दे. 

8) माता-पिता बच्चों को समझाएं

  • बच्चे किसी की समने कपड़े न बदले.
  • अगर पेरेंट्स की उपस्थिति में डॉक्टर बच्चों के शरीर को टच करते हैं तो यह गुड टच है.
  • बच्चों को यह विश्वास दिलाएं कि आप ​ हमेशा उनके साथ है. अगर इस तरह का कोई बैड टच उनके साथ होता है तो इसमें बच्चों का कोई फ़ॉल्ट नहीं है.

9) पब्लिक प्लेसेज़ पर भी रहे सावधान

बच्चों को पब्लिक प्लेसेज़ पर भी सावधान रहने को कहे, जैसे पार्क, कोचिंग, टयूशन और स्कूल बस आदि. बच्चों को इन जगहों पर भी सतर्क और सावधान रहना सिखाएं. बच्चे से बताएं कि अगर कोई अजनबी उन्हें ग़लत तरीक़े से टच करता है या उनके प्राइवेट पार्ट्स पर हाथ रखने की कोशिश करता है तो वे उसी समय ज़ोर से शोर मचाएं और अपने पेरेंट्स को बताएं। 

10) संकोच न करे 

ज़्यादातर माता-पिता ​Good​ Touch and Bad Touch के बारे में बच्चों को बताते हुए संकोच करते हैं. इसी समस्या का हल हम लेकर आएं हैं. बच्चों को गुड टच बैड टच के बारे में डिटेल में जानकारी देने के लिए बच्चों की कहानी “SWEET SURPRISE OR SOUR SECRET”.

Good Touch Bad Touch

Buy on amazon

  • यह कहानी श्रीमती अपूर्वा कौशिक शर्मा ने लिखी है. जिसे पेरेंट्स बिना झिझके, अपने बच्चों को गुड टच और बैड टच की ये कहानी सुना सके और बच्चों को यौन शोषण का शिकार होने से बचा सके. 
  • श्रीमती अपूर्वा कौशिक शर्मा एक चाइल्ड सेफ़्टी एजुकेटर है. वे दस साल से चाइल्ड राइट्स के लिए काम कर रही है. उन्होंने बच्चों की सेफ़्टी के लिए ​good​ touch और bad touch की बहुत सारी वर्कशाप की हैं, जिसमें उन्होंने बच्चों,पेरेंट्स , केयरगिवर्ज़ और आंगनवाड़ी वर्कर्स को गुड टच और बैड टच के बारे में बताया. इस कार्यक्रम में उन्होंने गरीब-अमीर का कोई भेदभाव नही रखा और हर वर्ग के बच्चे को सुरक्षा देने की कोशिश की. 
  • 2022 में श्रीमती अपूर्वा ने 7000 बच्चों को एक साथ बैठाकर अच्छे और बुरे स्पर्श के बारे में जानकारी देकर Guinness World Record ​ बनाया. 
  • यह कहानी Human Rights Lawyer मिस लावण्या कौशिक ने एडिट की है और इसकी illustrator शुभांगी रहेजा हैं. 
  • यह कहानी बहुत ही सरल शब्दों में है. बच्चों के बहुत ही सुंदर चित्रों के साथ good touch bad touch की डिटेल में जानकारी देती है. इसमें बच्चों के लिए ऐक्टिविटी भी दी गयी हैं. 
  • आप बहुत ही आराम से बच्चों को बता पाएँगे कि good touch bad touch for kids क्या है? इससे कैसे बचा जा सकता है ? अगर आपसे कोई ग़लत व्यवहार करे तो आप कहाँ रिपोर्ट कर सकते हो ?
  • बच्चों को यौन शोषण से बचाने के लिए यह किताब तुरंत ख़रीदे और बच्चों को पढ़कर सुनाएं. अपने दोस्तों को भी शेयर करे. 

निष्कर्ष – Conclusion

हमने अपने इस लेख में  गुड टच बैड टच क्या होता है, डिटेल में बताया है. good touch bad touch for kids बच्चों को किस उम्र में और क्यों बताना चाहिए? बच्चे बैड टच को कैसे पहचाने good touch bad touch in hindi में बताया है बच्चे बुरे स्पर्श से कैसे बचे ?

हमने पेरेंट्स के लिए बच्चों की कहानी  “Sweet surprise or Sour Secret” बतायी है. जो वे बड़े आराम से बच्चों को सुना सकते है. 

अगर आपको हमारी दी हुई जानकारी useful लगे, तो दोस्तों के साथ share ज़रूर करे. अगर आपको कोई और जानकारी चाहिए तो comment करे. 

By Vibha Sharma
Child Development Expert


अक्सर पूछे जाने वाले सवाल – FAQ

Q1. बैड टच का उदाहरण क्या है?

Ans. बैड टच एक ऐसा टच है, जिससे बच्चा बुरा फ़ील करता है या असहज हो जाता है.

 बैड टच के उदाहरण 

जैसे ज़बरदस्ती गले लगाना, ज़बरदस्ती kiss करना, प्राइवेट पार्ट्स छूना, इस तरह के टच को बैड टच कहते हैं. यह यौन शोषण भी कहलाता है.

Q2. गुड टच और बैड टच की पहचान कैसे करे?

Ans. Good Touch: जब आपको कोई छुए और आप स्नेह महसूस करे तो यह गुड टच की पहचान है.

 Bad Touch: जब आपको कोई ऐसे छुए कि आप असहज या भयभीत हो जाएं, तो यह बैड टच की पहचान है.

Q3. बच्चों को गुड टच बैड टच के बारे में कैसे बताएं?

Ans. सबसे पहले बच्चे से दोस्ती करे. माता-पिता बच्चे के साथ टाइम स्पेंड करे. बच्चा आप पर बहुत विश्वास करने लगेगा. अब आप बच्चों की कहानी ‘Sweet Surprise or Sour Secret’ सुनाएं और बच्चों को Good Touch Bad Touch डिटेल में बताएं. बुक का link हमारे लेख में है. यह कहानी बहुत ही सरल शब्दों में, रंगीन चित्रों के साथ लिखी है. आप बड़े आराम से बच्चों को गुड टच बैड टच समझा पाएँगे.

 


Vibha Sharma

Hi, मैं Vibha Sharma हूँ. मैं एक Child Development Expert और Mom Influencer हूँ. मैं Maonduty की Founder हूँ. मैं तीन बच्चों की माँ हूँ. मेरी बड़ी बेटी Mechanical Engineer है, छोटी बेटी Lawyer है और बेटा Reputed College से Law कर रहा है. मेरे बच्चे हमेशा Scholar रहे. उन्होंने बहुत सारे इनाम जीते Debates, Essay writing, sports, arts, story telling, fancy dress and Theatre etc मैं यहाँ आपको Parenting के पर्सनल अनुभव share कर रही हूँ. मेरा mission 100000000+Parents की parenting journey को Happy and Easy बनाना है 🙏😊❤️ आप मुझे Instagram पर भी follow कर सकते है. मैं वहाँ Calm Parenting tips देती हूँ.😊💐

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Summer Vacation में बच्चों से कराएं ये 5 चीज़ें और उन्हें बनाएं Confident और Independent बच्चों को Mentally strong बनाने के लिए इनमें से 1 चीज़ ज़रूर सिखाएं हनुमान जी के नाम पर बच्चों के मॉडर्न, अद्भुत और साहसी नाम