बच्चों का मन पढ़ाई में लगाने के 25 लाजवाब उपाय बढ़ते हुए डिस्ट्रेक्शन के कारण बच्चों का मन पढ़ाई में न लगना सामान्य होता जा रहा है. बच्चों की पढ़ाई पेरेंट्स के लिए चिंता का विषय बनती जा रही है. इसी कारण पेरेंट्स ख़ुद बहुत टेंशन में रहने लगे हैं और वे बच्चों का पढ़ाई में मन न लगने के कारण को समझ नहीं पा रहे हैं. इसी कारण वे बच्चों को डाँटते हैं और मारते हैं. बच्चों का पढ़ाई में मन नहीं लगता है और घर का माहौल ख़राब होता जा रहा है.

इस लिए हमने सोचा कि Maonduty के इस लेख में हम आपको बच्चों का पढ़ाई में मन न लगने के कारण और बच्चों का मन पढ़ाई में लगाने के लाजवाब उपाय डिटेल में बताएंगे. मेरे तीनों बच्चे स्कॉलर रहे और हमेशा 90% से ऊपर नंबर लाते रहे हैं. मैं आपसे अपने पर्सनल अनुभव शेयर करूँगी. हर बच्चे की स्ट्रैन्थ और वीकनैस अलग-अलग होती है. हर बच्चे में पढ़ाई की समस्या भी भिन्न होती है.

हम आपको बताएंगे कि बच्चों का पढ़ाई में मन कैसे लगाएं? हम यहाँ पढ़ाई में दिमाग़ तेज़ करने का तरीक़ा भी बताएंगे. पढ़ाई में तेज़ कैसे बनें, पढ़ाई में मन लगाने का आसान तरीक़ा, पढ़ाई में कमज़ोर बच्चे का उपाय, अपने पर्सनल अनुभव से डिटेल में बताएंगे. लेख में पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र भी बताएंगे. आप हमारे साथ आख़िर तक बने रहें.

Table of Contents

बच्चों का मन पढ़ाई में न लगने के कारण

आजकल बहुत बच्चों का पढ़ाई में मन नहीं लगता है और पेरेंट्स परेशान रहते हैं. बच्चों का पढ़ाई में मन कैसे लगाएं, जानने से पहले हमें बच्चों का पढ़ाई में मन न लगने के कारणों को जानना होगा, तभी हम बच्चों की पढ़ाई की Problem को solve कर पाएंगे.

1] सोशल मीडिया- आजकल पेरेंट्स बच्चों की Phone Addiction से बहुत तंग हैं. बच्चे घंटों-घंटों तक Reels & Shorts देखते रहते हैं और उनका पढ़ाई में मन नहीं लगता. सोशल मीडिया से उन्हें Entertainment मिलता रहता है.

2] English कमज़ोर होना- कुछ बच्चों का पढ़ाई में मन न लगने का कारण है. इंग्लिश में ढंग से न पढ़ पाना और समझ पाना. सारे सबजेक्टस इंग्लिश में होते हैं और बच्चे कुछ भी समझ नहीं पाते.

3] पढ़ाई करने का ग़लत तरीक़ा- कई बार बच्चों को पढ़ाई करने का सही तरीक़ा नहीं आता. वे समझ नहीं पाते कि पढ़ाई में तेज़ कैसे बने? फिर उनके मार्क्स अच्छे नहीं आते और बच्चे का मन पढ़ाई में नहीं लगता.

4] मैथ में कमज़ोर होना- बच्चों का पढ़ाई में मन न लगने का कारण मैथ समझ न आना भी होता है. अगर बच्चे मैथ में कमजोर होते है तो भी वे परेशान रहते हैं.

5] घर में लड़ाई-झगड़े- अगर घर में पेरेंट्स आपस में झगड़ते रहते हैं तो भी बच्चा ठीक से पढ़ाई नहीं कर पाता. उसका भी दिमाग़ घर की बातों में उलझा रहता है, जिससे बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास पर बुरा असर आता है.

6] ADHD या Hyperactive Problem- कुछ बच्चे लर्निंग केपेसिटी से जूझ रहे होते हैं और वे पढ़ाई में कॉन्संट्रेट नहीं कर पाते.

अब हमने बच्चों का मन पढ़ाई में न लगने का कारण तो जान लिया. अब हम जानेंगे बच्चे का मन पढ़ाई में लगाने के लाजवाब उपाय.

बच्चों का मन पढ़ाई में लगाने के 25 लाजवाब उपाय. Padhai Me Man Lagane Ke Nuskhe

बच्चों के अंदर बहुत एनर्जी होती है. ज़रूरत होती है कि हम उन्हें सही दिशा दिखाएं, सही-ग़लत सीखने में उनकी मदद कर. हर बच्चा अच्छे नंबर लाना चाहता है. माता-पिता व टीचर्स का फ़ेवरेट बनना चाहता है. लेकिन जब वह उसे हासिल नहीं कर पाता तो दिशाहीन हो जाता है. ऐसे में उसे पेरेंट्स की मदद की बहुत ज़रूरत होती है. बच्चों को समझ नहीं आता कि पढ़ाई में तेज़ कैसे बने या पढ़ाई में मन कैसे लगाएं.

1. बच्चों का Time Table बनाएं 

यदि बच्चे का मन पढ़ाई में नहीं लगता है तो उस पर चिल्लाने की बजाय उसकी मदद करें. बच्चे के साथ मिलकर बच्चे का टाइमटेबल तैयार करें. इसमें आप बच्चे का सोने का टाइम , खेलने का टाइम , T.V. टाइम , Story टाइम , ऐक्टिविटी टाइम , होमवर्क टाइम सब शामिल करें. बच्चे बोर नहीं होंगे. बच्चों का मन पढ़ाई में लगाने का आसान उपाय है.
बच्चों में टाइमटेबल फॉलो करने से सुरक्षा की भावना आती है. यह पढ़ाई में कमज़ोर बच्चों का उपाय है.

2. बच्चों को स्कूल से आने के बाद आराम कराएं 

बच्चों की पढ़ाई difficult होती जा रही है. बच्चे स्कूल में एक ही क्लास में बैठे रहते हैं. तरह-तरह की ऐक्टिविटीज़ करते हैं. टीचर उन्हें ​डिसिप्लिन में रखने की कोशिश करती है. वे बँधा हुआ महसूस करते हैं.

बच्चों को आते ही पढ़ने न बैठाएं. बच्चों को फ़्री टाइम भी मिलना चाहिए. बच्चों का पढ़ाई में मन न लगने का एक कारण ज़्यादा बंदिश भी हो सकती है. बच्चों को स्कूल से आने के बाद खाना खिलाएं, आराम करने दें, यह पढ़ाई में मन लगाने का आसान तरीक़ा है.

3. बच्चों से बात करें 

बच्चा जब स्कूल से घर आता है तो उससे थोड़ी गपशप करें. उसके कपड़े बदलवाएं. बच्चे से स्कूल की, दोस्तों की,स्कूल में हुई activities की बातें करें. पढ़ाई की बात करें.
आप देखेंगे कि बच्चे की आदत बनती जा रही है कि वह आपको सब कुछ बताए. यह आदत आपके और आपके बच्चे के बीच Bonding बढ़ाएगी.

4. बच्चों का T.V. का टाइम फ़िक्स करें 

आप बच्चे का TV देखने का टाइम फ़िक्स कर दें. कब देखना है, कितना देखना है? आप बच्चे को आधा-आधा घंटा दो बार TV दिखाएं. उसके पसंद की कार्टून फ़िल्म दिखाएं. लेकिन cartoon में इस्तेमाल होने वाली language का ध्यान रखें, कोई भी अपशब्द न हो. बच्चों का मन पढ़ाई में लगाने के लिए आपको ये काम ज़रूर करना पड़ेगा.

5. बच्चों को Moral story Books सुनाएं 

जब बच्चा आराम करे, तब उसे दस मिनिट stories ज़रूर सुनाएं. Story सुनाते हुए, Voice modulation करें, expressions के साथ सुनाएं. बच्चे को मज़ा आने लगेगा. उसकी vocabulary भी बढ़ेगी और imagination भी. पढ़ाई में मदद होगी. बच्चों को Moral stories से सीख मिलेगी. बच्चों का पढ़ाई में मन कैसे लगाएं का शानदार उत्तर.

6. पढ़ाई का टाइम fix करे 

बच्चे का पढ़ने का टाइम fix होना चाहिए. इस उम्र में पढ़ाई का 1 घंटा भी काफ़ी होता है.
लेकिन आपको consistent रहना है. रोज़-रोज़ बच्चे के पढ़ने का टाइम न बदले. उससे बच्चे को confusion होता है. यह पढ़ाई में दिमाग़ तेज़ करने का तरीक़ा है.

एक ही समय पर रोज़ पढ़ाई करने से बच्चे का उस टाइम पढ़ाई में दिमाग़ तेज़ चलने लगता है. उसको ख़ुद पढ़ाई करने की इच्छा होने लगती है. बच्चा स्कूल में अच्छा Perform करने लगता है.

7. पढ़ाई करने की Study Table 

बच्चा कितना भी छोटा हो, बच्चे की study table होनी चाहिए. स्टडी टेबल एक fix जगह पर होनी चाहिए. जहां light और ventilation ठीक से आता हो. जहां कोई शोर न हो या TV वग़ैरह न लगा हो. बच्चे को पढ़ते समय किसी भी तरह की distraction नहीं होनी चाहिए.

बच्चे का पढ़ाई में मन लगे, इसलिए उसकी Study Table हमेशा उत्तर-पूर्वी दिशा में रखें. इससे बच्चे अच्छी पढ़ाई करते हैं और पढ़ाई में होशियार हो जाते हैं. पूर्व में सूरज निकलता है और सूरज की किरणें बच्चे को पोज़ीटिविटी से भर देती हैं. पढ़ाई में मन लगाने का आसान उपाय.

8. बच्चों की Stationery

बच्चों का पढ़ाई में मन कैसे लगाएं के लिए सबसे बड़ा उपाय है, बच्चों की स्टेशनरी, उनकी पसंद से लें.
बच्चे को उसकी पसंद की pencil, eraser, colours, gum, craft scissors, craft papers, pen stand आदि दिलाएं. बहुत-बहुत सुंदर notebooks मिलती हैं, वे दिलवाएं.

Suggestions –

  • Kids School Stationary Kit (Space Explore)

Kids School Stationary Kit

Buy on offer price

बच्चे की स्टडी टेबल सजाएं. बच्चे को अपनेपन का अहसास होता है, वह अपनी पसंद की चीज़ों से पढ़ना लिखना जल्दी सीखता है.

Suggestions –

  • Kids School stationery Kit (Mermaid Princess)

Kids School stationery Kit (Mermaid Princess)

Buy on offer price

9. पढ़ाई में दिमाग़ तेज़ करने का तरीक़ा

आपको बच्चे का स्कूल बैग रोज़ चैक करना है. उसकी सारी Note-Books, Dairy चैक करें.

आपको पता चलेगा कि बच्चा क्या सीख रहा है? उसका class-work कैसा है? बच्चे को homework में क्या करने को मिला है? आजकल हर स्कूल Mail भेजता है, रोज़ check करें. आप को स्कूल रिलेटेड सारी जानकारी मिलती रहेगी.

बच्चे का class-work देखकर आप समझ जायेंगे कि उसे कौन-कौन से Subjects में कौन-कौन से concepts clear नहीं हैं? आप उसकी हेल्प करें, बिना डाँटे या मारे. बच्चे को सबजेक्टस समझ आते ही पढ़ाई में मन लगने लगेगा.

Suggestions –

  • Writing Practice Boxset

Writing Practice Boxset - बच्चों का मन पढ़ाई

Buy on offer price

10. पढ़ाई में तेज़ कैसे बनें?

पढ़ाई में तेज़ कैसे बने के लिए, बच्चों को topper जैसी प्रैक्टिस कराएं. जो भी वो स्कूल में पढ़कर आ रहे हैं, उन्हें घर पर रोज़ पढ़वाएं. ऐसा करने से स्कूल में पढ़ाया हुआ सब्जेक्ट उन्हें बहुत अच्छी तरह समझ आएगा. एक रिसर्च के अनुसार जिस परिवार के लोग बच्चों की पढ़ाई में मदद करते हैं. वह बच्चा पढ़ाई में मन लगाकर पढ़ने लगता है और टॉपर बन जाता है. मैंने भी अपने बच्चों की ऐसे ही पढ़ाई कराई और व टॉपर बने.

11. बच्चों के School Projects 

बच्चों को आजकल बहुत projects होमवर्क में मिलते हैं. आप बच्चे के साथ teamwork करें. अगर आपको ideas नहीं आ रहे हैं, तो आप Google search करें.
बच्चों का पढ़ाई में मन लगाने का आसान तरीक़ा है कि आप बच्चे के साथ इन्वोल्व हों और उसके होमवर्क/प्रोजेक्टस को छोटे-छोटे पार्ट में ब्रेक करें. जिससे बच्चा बड़ा-सा होमवर्क देखकर घबराए ना. इससे वह टाइम पर अपना होमवर्क कम्प्लीट कर पायेगा. उसका आत्मविश्वास बढ़ेगा.

ये सारी activities करने में बच्चे को बहुत मज़ा आता है. वे बहुत ख़ुश होते हैं.

12. बच्चों का Maths मज़बूत करें

बच्चे के साथ Ludo, ​Snake & Ladder खेलें. बच्चा जब आपके साथ ये game खेलता है, तो वह Subtraction और Addition सीखता जाता है.
बच्चे मैथ में तेज़ कैसे बने के लिए, उन्हें सब्ज़ियाँ ख़रीदने के लिए ले जाएं. वहाँ पर वे कि॰ग्रा॰, ग्रा॰ समझ पाएंगे. ग्रोसरी स्टोर ले जाएं, वहाँ पर बच्चे ली॰, मी॰ली॰, समझ सकेंगे. बच्चों से सामान काउंट करवाएं. बच्चों को मैथ में मज़ा आने लगेगा.

उसका Mathematics में interest develop होने लगता है. मैं अपने बच्चों से दूध वाले का हिसाब, प्रेस वाले का हिसाब करवाती थी. तीनों बच्चे मैथ्स में बहुत होशियार बने. पढ़ाई में मन लगाने का बेस्ट तरीक़ा है.

Suggestions –

  • JLG Wooden Ludo & Snakes

JLG Wooden Ludo & Snakes

Buy on offer price

13. मानसिक विकास के लिए खेलना भी है ज़रूरी

बच्चे का मानसिक विकास तेज़ करने के लिए खेलना भी ज़रूरी है. इससे बच्चे का ब्रेन फ़्रेश होता है. बच्चे के मानसिक विकास के लिए माइंड गेम्स और आउटडोर गेम्स खिलाने चाहिए. बच्चे का खेलने का समय भी फ़िक्स करें. बच्चे का मूड फ़्रेश होगा और पढ़ाई में भी बच्चे का मन लगेगा.

Suggestions –

  • SOFTIES 4 in 1 Kids Basketball for Kids

SOFTIES 4 in 1 Kids Basketball for Kids

Buy on offer price

बच्चों को पार्क लेकर जाएं. कुछ भी outdoor गेम खिलाएं. दूसरे बच्चों के साथ खेलकर बच्चा sharing, teamwork, social होना सीखता है.
बच्चे की हेल्थ के लिए भी outdoor ऐक्टिविटी हेल्प करती है. ये भी पढ़ाई में तेज दिमाग़ करने का तरीक़ा है.

Suggestions –

  • Toyzone Baby Panda Magic Car

Toyzone Baby Panda Magic Car - बच्चों का मन पढ़ाई

Buy on offer price

14. बच्चों को इंग्लिश पढ़ना कैसे सिखाएं

बच्चे का पढ़ाई में मन लगाने के लिए तीन साल की उम्र से आप बच्चे को phonic sounds, sight words सिखाने शुरू करें. रोज़ 10 मिनिट बच्चे को Phonetically छोटे-छोटे English Sentences पढ़ाने चाहिए.

बच्चा धीरे-धीरे इंग्लिश पढ़ना सीख जाएगा और fluent reader बनेगा. ये आपको रोज़ कराना है. अच्छे नंबर लाने का और पढ़ाई करने का बेहतरीन तरीक़ा है.

आगे जाकर सारे सब्जेक्ट्स इंग्लिश में होने वाले हैं ये पढ़ाई में मदद करेगा.

15. स्कूल की ऐक्टिविटीज़ 

बच्चों का पढ़ाई में मन लगाने का आसान उपाय है कि आप बच्चों को स्कूल की ऐक्टिविटीज़ में ज़रूर participate कराएं, जैसे Story telling, Fancy Dress competition, Poem competition and Annual Function.

इस उम्र में हर स्कूल बच्चों का mass participation कराता है और हर बच्चे को stage पर जाकर कुछ न कुछ करने का मौक़ा मिलता है.

जिससे बच्चे का confidence बढ़ता है और बच्चों का होलिस्टिक development होता है. बच्चे के जीवन में सफलता पाने के बहुत काम आता है. वह हज़ारों की भीड़ में भी बिना डरे अपनी बात कह पाता है.

16. बच्चों को कुछ नया सिखाएं

बच्चों को कुछ न कुछ नया सिखाते रहें, Cycling, Jumping, basketball, Board Games आदि. बच्चों को हर थोड़े दिन में नया सीखना अच्छा लगता है और वे बहुत खुश होते हैं.
बच्चों को अपने पापा के साथ खेलना बहुत अच्छा लगता है. वे अपना समय बच्चों को ज़रूर दें.

जिन बच्चों की पेरेंट्स से अच्छी बांडिंग नहीं होती, यह भी बच्चे का पढ़ाई में मन न लगने का कारण हो सकता है.

17. बच्चों को बाहर घुमाने ले जाएं

बच्चों को ऐसी जगह घुमाने ले जाएँ, जहां उनकी knowledge बढ़े, जैसे zoo, science centres, planetariums एंड chocolate factories आदि.

पेरेंट्स के लिए यह जानना ज़रूरी है कि बच्चों की सीखने की क्षमता कैसी है. कुछ बच्चे प्रेक्टिकल देख कर ज़्यादा अच्छा कर पाते हैं. बच्चों की पढ़ाई करने की दिलचस्पी बढ़ती है.

बच्चों की पढ़ाई ख़ुशी-ख़ुशी हो पाएगी.

18. पेरेंट-टीचर मीटिंग में ज़रूर जाएं

बच्चों की पढ़ाई की जानकारी लेने PTM में ज़रूर जाएं. आपको बच्चे की activities के बारे में पता चलता रहेगा ​कि बच्चा स्कूल में कैसा perform कर रहा है.
बच्चे को कोई और परेशानी तो नहीं आ रही. स्कूल में और कौन सी ऐक्टिविटीज़ चल रही है. आपको सब चीज़ पता चलेगी.

यदि आपको मीटिंग में पता चलता है कि बच्चा क्लास में अच्छा परफ़ॉर्म नहीं कर रहा है, उसको डाँटें या मारे नहीं, प्यार से उसकी प्रोबल्म को समझें. बच्चे को मोटिवेट करें. ये बच्चे का मन पढ़ाई में लगाने का उपाय है.

19. बच्चों की प्रशंसा करें

बच्चों का पढ़ाई में मन लगाने का सबसे बड़ा उपाय है कि आप बच्चे की प्रशंसा करें. अगर बच्चे का पढ़ाई में मन नहीं लगता है तो उसे डाँटें-मारे नहीं बल्कि प्यार से समझाएं. बच्चे के साथ बैठें, उसका होमवर्क करवाएं. बच्चे की छोटी-छोटी उपलब्धि के लिए उसकी प्रशंसा करें.
बच्चा ख़ुश होकर पढ़ाई आराम से करने लगेगा.

20. बच्चों के दोस्त

क्लास में अच्छी पढ़ाई करने वाले बच्चों से, अपने बच्चों की दोस्ती कराएं. उन बच्चों को घर पर बुलाएं. अपने बच्चे के साथ खेलने दें, खाने दें.
बच्चे के ऊपर संगति का प्रभाव पड़ेगा, आप देखेंगे कि बच्चा पढ़ाई में रुचि लेने लगा है. आपस में बच्चे एक healthy competition लगाएंगे.

आप जानते ही हैं कि जैसे पाँच लोगों के साथ आप रहते हैं, वैसे ही बन जाते हैं. बच्चों का मन पढ़ाई में लगाने का आसान तरीक़ा है.

21. Comparison न करें 

पढ़ाई में मन कैसे लगाएं के लिए, बच्चे का comparison न करे, उसे अपने pace पर पढ़ाई और लिखाई सीखने दे. उसे सीखने की तरफ़ ज़्यादा बढ़ावा दें, न की marks पर.
जब आप बच्चे की पढ़ाई की अच्छी नींव डाल देंगे, तो बच्चा अपने आप अच्छे number लाने लगेगा. आपको पढ़ाई में मन लगाने के तरीक़े पर ध्यान देना है.

22. बच्चों का दिमाग़ तेज़ करने के अनोखे उपाय

बच्चों का पढ़ाई में दिमाग़ तेज़ करने का तरीक़ा है कि बच्चों से ऐसी activities कराई जाएं जिससे बच्चे के दिमाग़ का ज़्यादा से ज़्यादा इस्तेमाल हो, जैसे craftwork, clay modelling, colouring, block building आदि. 1-2 घंटे के लिए बच्चों को घर में ये ऐक्टिविटीज़ करने दें.
बच्चे busy भी रहेंगे और नए-नए तरीक़े से दिमाग़ का ​use​ करेंगे. बच्चे ख़ुश रहेंगे तो पढ़ाई भी मन लगाकर करेंगे.

Suggestions –

  • SmartoKids Activity Box

SmartoKids Activity Box

Buy on offer price

Suggestions –

  • Einstein Box

Einstein Box - बच्चों का मन पढ़ाई

Buy on offer price

23. Online पढ़ाई

बच्चे पढ़ाई में तेज़ कैसे बने, बच्चों के लिए आजकल online education की नई नई चीजें आ गयी है. जिससे आपको बहुत मदद मिलेगी। बच्चा खेल-खेल में बहुत कुछ सीख जाएगा.

देखी हुई चीजें जल्दी याद होती है और लंबे समय तक याद रहती है.

24. संतुलित आहार 

बच्चे का पढ़ाई में मन लगाने का आसान उपाय है कि बच्चे को पौष्टिक खाना मिले. अगर बच्चे को Balanced diet न मिले तो उसका शारीरिक और मानसिक विकास अच्छा नहीं होता. बच्चे को अच्छा स्वास्थ्य और मानसिक विकास के लिए संतुलित आहार देना आवश्यक है. बच्चों को जंक फ़ूड की जगह, हरी सब्ज़ियाँ, फल, बादाम, अखरोट, काजू, सूरजमुखी के बीज, अलसी, किशमिश जैसी चीजें खिलाएं.
जिससे बच्चों का दिमाग़ तेज़ चले और उनका पढ़ाई में मन लगे.

25. पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र

बच्चों को रोज़ नहाने के बाद, पूजा करते हुए पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र पढ़ने की आदत डालें. बच्चों का आत्मविश्वास बढ़ेगा.

|| ॐ शारदा माता ईश्वरी, मैं नित सुमरि तोय, हाथ जोड़ अरजी करूं विद्या वर दे मोय ||

 

|| गुरु गृहन गए पढ़न रघुराई, अल्पकाल विद्या सब आई ||

परीक्षा की तैयारी से पहले इस मंत्र का जाप करे

|| शारदायै नमस्तुभ्यं, मम ह्रदये प्रवेशिनी,
परीक्षायां समुत्तीर्णं,सर्व विषय नाम यथा||

 

Conclusion

हमने इस लेख में बच्चों का मन पढ़ाई में न लगने के कारण बताए हैं. हमने बच्चों का मन पढ़ाई में लगाने के 25 लाजवाब उपाय, Padhai Me Man Lagane Ke Nuskhe डिटेल में बताए हैं.

बच्चों का पढ़ाई में मन कैसे लगाएं, पढ़ाई में तेज़ कैसे बने विस्तार से बताया है. बच्चे टॉपर बन सके इसके लिए, पढ़ाई में दिमाग़ तेज़ करने का तरीक़ा, पढ़ाई में मन लगाने का आसान तरीक़ा भी समझाया है. पढ़ाई में कमज़ोर बच्चे का उपाय, पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र बताएं हैं. आप इस लेख को पढ़कर बच्चे की सारी समस्या समझ पाओगे और उसकी मदद कर पाओगे.

अगर आपको हमारी दी हुई जानकारी अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ share ज़रूर करें. हमारे इस article को दूर-दूर तक फैलाएं, जिससे और भी parents को मदद मिले. हमारे इस नेक काम में शामिल हों.

आप comment ज़रूर करें, हमारा motivation बढ़ता है.

Child Development Expert
विभा शर्मा

FAQ-

Q1. बच्चों को पढ़ाई के लिए कैसे आकर्षित करें?

Ans. बच्चे के साथ बैठकर, रोज़ उसका होमवर्क करवाएं, जो चीज़ें उसे समझ नहीं आयी है, उसे प्यार से सारे कॉन्सेप्ट समझाएं. बच्चे पर न तो चिल्लाएं, न मारे. बच्चे के efforts की प्रशंसा करें. बच्चों की पढ़ाई को रोचक बनाकर, बच्चे का ध्यान पढ़ाई की तरफ़ आकर्षित करें.

Q2. मेरा बच्चा पढ़ाई पर ध्यान क्यों नहीं देता है?

Ans. बच्चा कई बार सबजेक्टस को ठीक से समझ नहीं पाता और बच्चे का पढ़ाई में मन नहीं लगता. बच्चे की किसी विषय में विशेष रुचि हो सकती है और कोई विषय उसे बोरिंग भी लग सकता है. ऐसे में बच्चे पढ़ाई पर ध्यान नहीं देते हैं.

Q3. पढ़ाई के लिए ब्रेन पॉवर कैसे बढ़ाएं?

Ans. पढ़ाई में ब्रेन पॉवर बढ़ाने के लिए पौष्टिक आहार खिलाएं जैसे ड्राई फ़्रूट्स: बादाम, अखरोट, अंजीर, अलसी के बीज, सूरजमुखी के बीज, हरी सब्ज़ियाँ और फल.
कॉन्संट्रेशन एक्सरसाइज़ करवाएं, बच्चे से Puzzles, Logical reasoning के सवाल करवाएं. बच्चे का मन पढ़ाई में लगाने का आसान उपाय है.


Vibha Sharma

Hi, मैं Vibha Sharma हूँ. मैं एक Child Development Expert और Mom Influencer हूँ. मैं Maonduty की Founder हूँ. मैं तीन बच्चों की माँ हूँ. मेरी बड़ी बेटी Mechanical Engineer है, छोटी बेटी Lawyer है और बेटा Reputed College से Law कर रहा है. मेरे बच्चे हमेशा Scholar रहे. उन्होंने बहुत सारे इनाम जीते Debates, Essay writing, sports, arts, story telling, fancy dress and Theatre etc मैं यहाँ आपको Parenting के पर्सनल अनुभव share कर रही हूँ. मेरा mission 100000000+Parents की parenting journey को Happy and Easy बनाना है 🙏😊❤️ आप मुझे Instagram पर भी follow कर सकते है. मैं वहाँ Calm Parenting tips देती हूँ.😊💐

2 Comments

  • Shalabh · September 28, 2022 at 2:59 pm

    So practical and useful tips as always.

      Shalabh Sharma · September 28, 2022 at 9:30 pm

      Thank you dear Shalabh😊I felt so glad that you liked it. Keep commenting.😊It really motivates me.

    Leave a Reply

    Avatar placeholder

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Exam Quotes in Hindi 2024 : बच्चों को पढ़ने की आग लगा देंगे 100% Exam Stress : परीक्षा के तनाव (एग्ज़ाम स्ट्रेस) को भगाने के Best उपाय Top 10 Baby Diaper Brands in India माँ और बच्चा सोए चैन से.